Ahmedabad Breaking News Gujarat

गुजरात में पहलीबार सबसे छोटी उम्र की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट, मां ने डोनेट किया लिवर का हिस्सा

गुजरात में पहलीबार सबसे छोटी उम्र की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट, मां ने डोनेट किया लिवर का हिस्सा

अहमदाबाद : गुजरात में पहलीबार सबसे छोटी उम्र की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट किया गया। जिसमें 31 वर्षीय मां ने दो साल की मासुम को अपने लिवर का एक हिस्सा डोनेट किया। और साबित कर दिया कि, इस दुनिया में मां से बड़ा कोई भी नहीं होता है। शहर के सिम्स अस्पताल में हुई इस सर्जरीने नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है। साथ ही दो साल की मासुम भी राज्य में लिवर ट्रांसप्लांट करवानेवाली सबसे छोटी उम्र की बच्ची बन गई है।

संवाददाता के मुताबिक, मासुम की पहचान हिरवा के रुप में हुई है। उसके पिता रिक्शा चलाते है, और वह पहले भी ऐसी ही बीमारी के कारण अपनी एक संतान गंवा चुके थे। हिरवा को भी लिवर की बीमारी के चलते सिम्स अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसकी स्थिति काफी नाजुक थी, और इस बीमारी के कारण वह कईबार कोमा में जा चुकी थी। और कोरोना महामारी के बीच उसका उपचार करना काफी कठिन था। पर उसकी मां ने जब अपने लिवर का हिस्सा डोनेट करने की तैयारी दिखाई तो डॉक्टर्स ने भी बीड़ा उठा लिया।

अस्पताल के चेरमेन डोक्टर केयूर परिख ने बताया कि, डो. आनंद खखर की अगवाई में यह सर्जरी की गई। जिसमें मासुम की मां ही डोनर बनी। बहरहाल उसकी तबियत ठीक हो रही है। और बहोत जल्द ही वह पूरी तरह स्वस्थ हो जाएगी। तो ट्रांसप्लांट टीम के डायरेक्टर डो. धीरेन शाह ने कहा कि, इसमें गुजरात सरकार की काफी मदद मिली। अस्पताल में लिवर ट्रांसप्लांट सिर्फ 6 माह पहले शुरु किया गया। और आजतक हमें शतप्रतिशत सफलता मिली है।

Related posts

સરકાર અન્ય રાજ્યના લોકોને પણ સહાય આપશે તો અન્ય રાજ્યમાં સારવાર લેતા મોત થયું હોય તે ગુજરાતીઓ પણ સહાયને પાત્ર ગણાશે

Rajkotlive News

गुजरात में 8 साल की मासुम से दुष्कर्म, मेवाणी ने मांगा सीएम से जवाब, पुलिस ने घोषित किया 50 हजार का इनाम

Rajkotlive News

એશિયન દેશો ઝીરો કોવિડની રણનીતિ છોડીને નિયંત્રણો હટાવી રહ્યાં છે

Rajkotlive News