Breaking NewsGujaratPolitics

राज्यसभा चुनाव में एक-एक मत के लिए भाजपा-कांग्रेस में रस्‍साकसी

राज्यसभा चुनाव में एक-एक मत के लिए भाजपा-कांग्रेस में रस्‍साकसी

गुजरात में राज्‍यसभा की 4 सीट के लिए 5 प्रत्‍याशी मैदान में है। भाजपा अपने तीसरे उम्‍मीदवार नरहरी अमीन को जिताने के लिए एक खास रणनीति पर काम कर रही है। वहीं कांग्रेस अपने दूसरे प्रत्‍याशी भरतसिंह सोलंकी की जीत तय करने में जुटी है। मुख्‍यमंत्री आवास पर भाजपा के रणनीतिकारों ने बीती रात बैठक कर इस पर चर्चा की। भाजपा के प्रभारी भूपेंद्र यादव व कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव ने आकर मोर्चा संभाल लिया है।

मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी के सरकारी आवास पर बुधवार रात्रि भाजपा के रणनीतिकारों की बैठक हुई जिसमें उपमुख्‍यमंत्री नितिन पटेल, भाजपा अध्‍यक्ष जीतू भाई वाघाणी, गृह राज्‍यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा सहित कोर समिति के कई नेताओं ने भाग लिया।

गुजरात भाजपा के प्रभारी भूपेंद्र यादव बुधवार शाम को ही गांधीनगर पहुंचे, पार्टी की इस बैठक में यादव भी मौजूद रहे तथा राज्‍यसभा चुनाव की रणनीति व विधायकों के संख्‍या बल का जायजा लिया। भाजपा की एक केंद्रीय टीम भी इस चुनाव पर निगरानी बनाए हुए है, दरअसल भाजपा व कांग्रेस दोनों एक एक मत के लिए जूझ रहे हैं। वीरवार सुबह भाजपा के आला नेताओं ने एक बार फिर बैठक की तथा देर शाम पार्टी के सभी विधायकों के साथ मुख्‍यमंत्री, उपमुख्‍यमंत्री, भाजपा अध्‍यक्ष व पार्टी प्रभारी बैठक करेंगे।

कांग्रेस के सभी विधायक एयरपोर्ट के नजदीक होटल उम्‍मेद में जमा हैं, वीरवार सुबह पार्टी विधायकों को राज्‍यसभा चुनाव की प्रक्रिया से अवगत कराया गया तथा एक मॉक पोल भी किया गया। कांग्रेस प्रवक्‍ता जयराज सिंह जाडेजा ने बताया कि सभी विधायक एकजुट हैं, जिनको जाना था वे चले गए अब सभी विधायकों ने कांग्रेस के लिए जीने मरने का सं‍कल्‍प लिया है। पार्टी के राज्‍यसभा चुनाव निरीक्षक एवं केंद्रीय नेता बी के हरिप्रसाद व रजनी पाटिल भी अहमदाबाद पहुंच चुके हैं। कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव भी बुधवार रात्रि को ही अहमदाबाद पहुंच गए थे। शुक्रवार को सुबह सभी विधायक होटल से गांधीनगर सचिवालय पहुंचेंगे।

कांग्रेस का एक भी विधायक टूटता है या क्रॉस वोटिंग कर देता है तो भाजपा अपनी रणनीति में कामयाब हो सकती है। हालांकि निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी को लेकर कांग्रेस आश्‍वस्‍त है लेकिन राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक कांधल जाडेजा ने हाल सभी के लिए राजनीतिक असमंजसता पैदा कर दी है। एनसीपी अध्‍यक्ष जयंत पटेल ने गत दिनों पार्टी व्‍हीप जारी कर एनसीपी का मत कांग्रेस के पक्ष में ही जाने की व्‍यवस्‍था कर दी है लेकिन कांधल के राजनीतिक रिश्‍ते व उनकी राजनीति को देखते हुए उनका मत भाजपा को मिले इसकी संभावना अधिक नजर आती है।

भारतीय ट्राइबल पार्टी के प्रमुख छोटूभाई वसावा कांग्रेस नेता व सांसद अहमद पटेल के करीबी माने जाते हैं इसलिए कांग्रेस बीटीपी को अपने साथ ही मानकर चल रही है लेकिन गत दिनों उनके पुत्र एवं विधायक महेश वसावा की उपमुख्‍यमंत्री नितिन से मुलाकात ने राजनीतिक हलकों में कई अटकलों को जन्‍म दे दिया है।

Related posts

રાજકોટનાં 150 ફૂટ રિંગ રોડ ઉમિયા ચોક પર બ્રિજ રદ, પુનિતનગર ચોક પર ઓવરબ્રિજ બનશે

Rajkotlive News

प्रवासी मजदूरों पर SC का आदेश- आवाजाही को रोके केंद्र सरकार, करे कार्रवाई

Rajkotlive News

*મોબાઈલની લત અને સ્ક્રીન ટાઈમ વધતા હવે બાળકોને શાળામાં બેસવામાં તકલીફ* સૌરાષ્ટ્ર યુનિવર્સિટીના મનોવિજ્ઞાન ભવનનો સર્વે.

Rajkotlive News