Breaking News India

मसूद अजहर का रिश्‍तेदार टॉप जैश कमांडर समेत 3 आतंकी ढेर

सुरक्षाबलों को जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में बड़ी कामयाबी मिली है. सेना ने पुलवामा (Pulwama) में जैश ए मोहम्मद (Jaish e Mohammad) के आंतकी और IED एक्सपर्ट अब्दुल रहमान उर्फ फौजी भाई को मार गिराया है.

जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘पुलवामा एनकाउंटर में मारे गए 3 आतंकियों में जैश ए मोहम्मद का आतंकवादी अब्दुल रहमान उर्फ फौजी भाई मारा गया है. ये पाकिस्तान के मुल्तान का रहने वाला था.’

उन्होंने आगे बताया कि अब्दुल रहमान 2017 से कश्मीर में एक्टिव था. 2019 के एक एनकाउंटर से ये बच निकला था. ये सबसे बड़ी कामयाबी है. रियाज नायकू के बाद ये बाद ये बहुत बड़ी सफलता है. दो और आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है. हो सकता है वो लोकल आतंकी हों. आतंकियों की डीएनए टेस्ट से पहचान की जाएगी.

आईजी विजय कुमार ने कहा ने बताया कि फौजी भाई पुलवामा में एक्टिव था, ये जैश ए मोहम्मद का आतंकी था. वलीद भाई और लंबू दोनों भी जैश के हैं. हमारा अगला टारगेट अब्दुल्ला राशिद गाजी है. हम लोग उसके पीछे पड़े हैं. वो ज्यादा सामने नहीं आता है. सेना जल्द उसको भी मारेगी. आर्मी, सीआरपीएफ और पुलिस ने मिलकर ऑपरेशन पूरा किया. अभी तक कश्मीर में इस 75 आतंकी मारे गए हैं. इनमें कमांडरों की संख्या ज्यादा है.

जम्मू-कश्मीर का आवाम सुरक्षाबलों को सपोर्ट करता है. कुछ 5-6 फीसदी लोग ही हैं, जो पत्थर मारते हैं, डिस्टर्ब करते हैं.

पिछले दिनों पुलवामा में सुरक्षाबलों ने आतंकियों द्वारा IED से एक कार को ब्लास्ट करने की कोशिश को विफल कर दिया था, आज एनकाउंटर में इसी साजिश का मास्टरमाइंड अब्दुल रहमान मारा गया है. साउथ कश्मीर में पुलवामा जिले के कंगन वानपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद के 3 आतंकवादियों को ढेर कर दिया है. मारे गए आतंकियों में अब्दुल रहमान भी शामिल है. आधी रात से सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही थी. दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही थी. सीआरपीएफ और 55 राष्ट्रीय रायफल की संयुक्त टीम आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दिया.

पिछले महीने 28 मई को सुरक्षाबलों ने पुलवामा में होने वाला बड़ा हादसा टाल दिया था. आतंकवादी एक बार फिर से पुलवामा में 14 फरवरी 2019 जैसा आतंकी हमला करना चाहते थे. आतंकियों ने एक कार में भारी मात्रा में विस्फोटक IED रखा था, लेकिन उनके नापाक इरादे सफल नहीं हो पाए थे. इस वारदात का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी अब्दुल रहमान था. जो आज मुठभेड़ में मारा गया.

भारतीय सेना जांबाजों ने समय से पहले ही विस्फोटक IED को नष्ट कर दिया था. ये IED से लदी कार पुलवामा में राजपोरा के अयानगुंड एरिया में बरामद हुई थी.

जब IED से लदी कार सुरक्षाबलों के नजदीक आई तो अंदर बैठे आतंकी ने फायरिंग भी की थी. लेकिन थोड़ा आगे जाने के बाद अंधेरे का फायदा उठाकर कार में बैठा आतंकी भाग गया था. गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक की नंबर प्लेट लगाई गई थी.

पिछले महीने 28 मई को सुरक्षाबलों ने पुलवामा में होने वाला बड़ा हादसा टाल दिया था. आतंकवादी एक बार फिर से पुलवामा में 14 फरवरी 2019 जैसा आतंकी हमला करना चाहते थे. आतंकियों ने एक कार में भारी मात्रा में विस्फोटक IED रखा था, लेकिन उनके नापाक इरादे सफल नहीं हो पाए थे. इस वारदात का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी अब्दुल रहमान था. जो आज मुठभेड़ में मारा गया.

भारतीय सेना जांबाजों ने समय से पहले ही विस्फोटक IED को नष्ट कर दिया था. ये IED से लदी कार पुलवामा में राजपोरा के अयानगुंड एरिया में बरामद हुई थी.

जब IED से लदी कार सुरक्षाबलों के नजदीक आई तो अंदर बैठे आतंकी ने फायरिंग भी की थी. लेकिन थोड़ा आगे जाने के बाद अंधेरे का फायदा उठाकर कार में बैठा आतंकी भाग गया था. गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक की नंबर प्लेट लगाई गई थी.

Related posts

STના કર્મચારીઓને વોરિયર્સ જાહેર ન કરાતા કોરોનામાં મૃત્યુ પામેલાના પરિવારને સહાય મળતી નથી.

Rajkotlive News

पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट गिफ्ट सिटीमें बिल्डर कर रहे लूंट, गुजराती सीनियर सिटीजन ने लगाया आरोप

Rajkotlive News

रिश्वतखोरो को पकड़नेवाले एसीबी के पीआई खुद 18 लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार

Rajkotlive News