Breaking News Gujarat Rajkot Saurashtra

हाथों की महेंदी का रंग भी नहीं उतरा था और शादी के दूसरे ही दिन कोरोना से लड़ने पहुंची महिला सिपाही

हाथों की महेंदी का रंग भी नहीं उतरा था और शादी के दूसरे ही दिन कोरोना से लड़ने पहुंची महिला सिपाही

राजकोट : कोरोना महामारी से चल रही लड़ाई में सभी लोग अपना फर्ज निभा रहे है। ऐसे में महिला सिपाही प्रफुलाबा परमारने हाथों की महेंदी का रंग उतरने का इंतजार किए बिना शादी के दूसरे ही दिन इस लड़ाई में अपना योगदान देना शुरु कर दिया। उनकी इस अनूठी पहल की उच्च अधिकारीयों समेत लोग भी सराहना कर रहे है।

संवाददाता के अनुसार प्रफुलाबा वांकानेर तहसील के थाने में एलआरडी का फर्ज निभा रही है। उनकी शादी करीबन छह महीने पहले फिक्स हुई थी। और उन्होंने शादी के लिए छुट्टियां भी ले रखी थी। हालांकि कोरोना की लड़ाई में जल्द से जल्द शामिल होने के कारण ही वह शादी के दूसरे ही दिन से अपने काम में जुट गई है।

आमतौर पर महिला पुलिसकर्मियों को नए परिवार में जाना होता है। इसीलिए शादी के बाद उन्हें खास तौर पे छुट्टियां देने का प्रावधान है। लेकिन कोरोना की इस लड़ाई में अपनी जिम्मेदारी का महत्व समजते हुए ही उन्होंने खुद अपनी छुट्टियां केंसल कर दी। इतना ही नहीं उनके पति समेत ससुरालियों ने भी इस मामले में उनका पूरा समर्थन किया है।

प्रफुलाबा उर्फ पूजाबा ने बताया कि, शादी से एक नए जीवन की शुरुआत होती है। इसी कारण शादी को लेकर प्रत्येक लड़की के कई सपने होते है। मेरे भी कई अरमान थे। लेकिन इस महामारी के समय देश को मेरी ज्यादा जरूरत है। घूमने-फिरने का मौका तो सभी को मिलता है। लेकिन देश के लिए कुछ करने का सौभाग्य तो किसी-किसीको ही मिलता है। मुजे यह मौका मिला है। इसलिए मैंने इस मौके को गंवाए बिना अपना काम शुरू कर दिया। मेरे पतिने भी खुशी से मेरे इस निर्णय को समर्थन दिया है।

Related posts

સુરેન્દ્રનગરના સાયલાના એક જ પરિવારના આઠેય સભ્યો પ્રજ્ઞાચક્ષુ, જાણો કેવી રીતે ગર્વભેર જીવે છે જીવન

Rajkotlive News

गुजरात के पांच जिले रेड जोन में व 14 जिले ग्रीन जोन में

Rajkotlive News

गुजरात सरकार ने शिक्षकों को सौंपा टिड्डियां भगाने का काम, देखे विडियो

Rajkotlive News