Breaking NewsGujaratIndiaLife stylePoliticsSpecial

रामायण वर्ल्ड रिकॉर्ड, भड़क गए राम- सीता, कहा- 30 सालों से हमने इसे जिंदा रखा, रॉयल्टी हमें चाहिए !

लॉकडाउन में सबसे बड़ा फायदा रामायण को हुआ है। इस शो ने देश में ही नहीं बल्कि दुनिया में नंबर 1 शो का वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया है। आलम तो ये है कि इसकी दर्शकों के बीच लोकप्रियता को देखते हुए इसका फिर से प्रसारण किया जा रहा है। साथ ही इस शो के सभी कलाकार भी इन दिनों सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं।

जहां पर पहले राम-सीता, लक्ष्मण और रावण का किरदार निभाने वाले कलाकारों को सरकार की तरफ से सम्मान देने की मांग फैंस ने उठाई। वहीं अब राम अरुण गोविल और सीता दीपिका चिखलिया ने रॉयल्‍टी की इच्‍छा जाहिर कर दी है।


Ramayan

साथ दी सीता दीपिका ने रामायण पर हर बार नए शोज बनने पर भी अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए इसे गलत बताया है। दीपिका चिखलिया ने साफ कहा कि अगर हम सब नहीं होते तो आप ये रामायण नहीं देख पाते। इसलिए इसकी रॉयल्‍टी पर हमारा पूरा अधिकार है।

राम और सीता को चाहिए रॉयल्‍टी

रामायण की टीआरपी और लॅाकडाउन में मिली लोकप्रियता के चलते अब इसे लेकर रॉयल्‍टी की मांग शुरू हो गई है। रामायण ने टीआरपी में कई इंटरनेशनल शोज को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में राम अरुण गोविल और सीता दीपिका चिखलिया ने रॉयल्‍टी की मांग की है।


दीपिका ने उठाया सवाल हर साल रामायण क्यों बनती है

पिंकविला से बातचीत में दीपिका चिखलिया ने कहा है कि मुझे नहीं पता कि अभी भी लोग रामायण क्यों बनाते हैं? हर साल नई रामायण आती है। मुझे लगता है कि अब ये सब बंद होना चाहिए। आखिर वो लोग ऐसी कोशिश क्यों करते हैं, मुझे ये सोचकर हैरानी होती है।

बाकी के रामायण में सब गायब रहता है

वह आगे कहती हैं कि जब आपके पास कोई चीज है तो उसे दोहराने की क्या जरूरत है। इस तरह के शोज में नैरेशन से लेकर परफॉर्मेंस तक सबकुछ गायब रहता है। इसी के साथ दीपिका ने रॅायल्टी पर भी अपनी बात पूरे जोश के साथ रखी है।


हमने करियर के 30 से अधिक सालों में रामायण को जिंदा रखा है

रॉयल्टी की मांग करते हुए दीपिका ने कहा कि ये हमारे पास नहीं है। मुझे लगता है कि हमें रॉयल्टी मिलनी चाहिए। मैं इसके बारे में लोगों से बात कर रही हूं। यहां बात सिर्फ रामायण की नहीं है। बल्कि हमने करियर के 30 से अधिक सालों तक रामायण को आज भी लोगों के बीच जिंदा रखा है। उन्हें हमें रॉयल्टी देनी चाहिए। मुझे नहीं पता कि ये कैसे होगा। लेकिन होना चाहिए।


हम नहीं होते तो कोई रामायण नहीं देख पाता

अपनी बात को सही बताते हुए दीपिका ने कहा कि सरकार को इसमें आगे आना चाहिए।। हमें रॉयल्टी देनी चाहिए। रामायण से इसकी शुरुआत होनी चाहिए। हमने अपना अहम योगदान दिया है। हम नहीं होते तो आप रामायण को आज नहीं देख पाते। उन्हें हमसे रॉयल्टी शेयर करना चाहिए।


राम अरुण गोविल ने कहा रॉयल्टी मिलनी चाहिए

इसके साथ एक वेबसाइट से बातचीत में राम अरुण गोविल ने भी इसे सही ठहराया है। उन्होंने कहा है कि इसमें कोई गलत बात नहीं है। रॉयल्टी मिलनी चाहिए। खासकर तब जब ये शो कमर्शियल तौर पर इतना अच्छा काम कर रहा है।

 

Related posts

કિસાન યોજના અંતર્ગત ગુજરાતના 5479600 ખેડૂતોના ખાતામાં કરાયા આટલા કરોટ ટ્રાન્સફર.

Rajkotlive News

श्रीनाथजि कैसे और कहा प्रकट हुए और अब कहा बिराजित हे

Rajkotlive News

Nirbhaya Case: फांसी घर में जमीन पर लेट गए दोषी, पढ़ें आखिरी लम्हों की पूरी कहानी

Rajkotlive News