Breaking NewsGujaratIndiaPoliticsRajkotSaurashtra

फीर एक बार बडी खबर है, गुजरात के सीएम रुपानी के शहर राजकोट से.. लोकडाउन 2.0के आखरी दीन और लोकडाउन 3.0के पहले दीन परदेशी मजदुरोने तंत्र की नाक मे दम कर दीया..

फीर एक बार बडी खबर है, गुजरात के सीएम रुपानी के शहर राजकोट से.. लोकडाउन 2.0के आखरी दीन और लोकडाउन 3.0के पहले दीन परदेशी मजदुरोने तंत्र की नाक मे दम कर दीया..


यहा के मजदुर जो की ज्यादातर बीहार और युपी से है और यहा पर छोटी मोटी फेक्ट्रीयामे काम करते है वो सब रोड पर उतर आये अपने देश जाने की जीद ले कर और राजकोट मे एसा एक वाक्या नही हुवा, दो जगह भी नही बलके दो दीन मे पांच जगह पर ये सारे परप्रांतिय ईकट्ठ हूऐ औह अपनी मांगे बुलंद करी
एक के बाद एक पांचो वीडियो आपको बताते है.

पहला वीडियो है राजकोट राजकोट के होट स्पोट ऐरीया जंगलेश्वर का जहा पर बडी संख्यामां दुसरे राज्य से आए हुए औह यहा पर फेक्ट्रीमे काम करते वर्कर ईकठ्ठा हुऐ. आपको बतादे की राजकोटमे 60 से ज्यादा कोरोना पोझीटीव केस है और उनमेसे ज्यादातर जंगलेश्वर के है. ईसी लीये इस एरीए को होटस्पोट घोषित कीया है बीचमे कुछ दीन यहा पर कर्फ्यु भी लगाया था लेकीन उसी जगह पर ईतनी बडी मात्रा मे लोग ईकठा होने से पुलसी और प्रसाशन चिंतित हो गये.. और आला अधिकारीओने सबको समजा बुजा कर वापस भेजा

दुसरा वीडियो है राजकोट के आहीर चोक का जहा से अटीका ईन्डस्ट्रीयल जोन एकदम नजदीक है. यहा पर भी लगभग 2000 जीतने वर्कर ईकट्ठा हो गये और सबको उनके गांव भेजने की मांग कर रहे थे.. तभी पुलीस आई और सबको समजाया की गुजरात सरकारने व्यस्था की है. सबको फोर्म भरने है उसके बाद सबको घर भेजा जाऐगा. जेसेतेसे यहा पर भी सब वर्कर वापस चले गये. लेकीन यै सीलसीला थम नही रहा था..

उसके बाद तीसरा वीडियो भी राजकोट के आजी जीआईडीसी से नजदीक और राजकोट भावनगर हाईवे जो रास्ता एक तरफ अहमदाबाद और दुसरी और जुनागढ-सोमनाथ तरफ जाता है वहा पर भी लगभग 500 जीतने वर्क ईकठ्ठा हुऐ और सबको उनके राज्य भेजने की मांग की वहा पर भी पुलीस आई और प्रसाशन का हवाला दे कर सबको वापस भेजा गाय..रात होते होते राजकोट के कलेक्टरने भी बयान जारी कीया और राज्य सरकार का हवाला देते हुए कह डाला की जो लोग अपने राज्यमे जाना चाहते है उनके लीये सुवीधए उपलब्ध की जा रही है..

 

लेकीन दुसरे दीन यानी के लोकडाउन 3 का पहला दीन शुरु होते ही यह सीलसीला वापस शुरू हुवा बडी संख्यामे वर्कर राजकोट जीला कलेक्टर ओफीस पर पहुचे जो चोथे वीडियो मे देखा जा रहा है. यहा पर भी सबकी यही मांग के उनको घर भेजा जाये. सबको प्रसाशन ने समजाया 1-2 दीन मे सारी व्यवस्था की जा रही है. उसके लीये कार्यवाही करनी पडेगी. सबको जल्दी घर भेजा जायेगा. प्रसाशन के आश्वासन पर मु लटकाके ये सारे वर्कर वापस राह की आश ले कर अपने टेम्पररी ठीकाने पर पहोंच गये..

अब आपके सामने जो पांचवा वीडियो है वह राजकोट के मवडी का है जहा पर भी 2 से 3 हजार जीतने वर्कर ईकठ्ठा हुए जीनको घंटो तक समजाया गया. पुलीस भी बडी मात्रा मे पहुंची और लाउड स्पीकर से सबको समजाया की सबको भेजने की व्यवस्था की जा रही है. लेकीन दुसरे दीन वर्कर मान नही रहे थे तभी पुलीस के आला अधिकारी पहुचे सबको समजाना शुरू कीया और यहा तक कह दीया की मे आपकी तरफ युपी बीहार से ही हू जल्ही ही सबको वापस अपने देश जाने की व्यवस्था करवा दूंगा.. अधिकारी के मीठे शब्द सुनकर सब खुस हो गये और वापस चले गये..
ईस सभी वारदात पर हमारे संवाददाता ने ग्राउन्ट झीरो पर पहुंच कर जानकारी ली तो पता चला की सभी वर्करने यह बात फेली की अहमदाबाद- सुरत से सभी परप्रांतियो के लीये ट्रेन और बस की सुविधा की जा रही है तो हमारे लीये क्यु कुछ नही कीया जा रहा रोड पर उतरेंगे तफी सरकार को पता चलेगा यह सोच कर सभी लोक रोड पर आ गये थे.
हमने कई वर्कर से बात करने की कोशिश की तो बहोत लोको ने बताया की हमारे पास यहा काम नही, पैसे भी खतम हो गये और खाना भी कोई व्यवस्था करता है तो मील जाता है
कीसीने बताया की लोकडाउन कब खुलेगा पता नही एक के बात एक तारीख ही आ रही है एसे बीना काम के हम यहा क्या करे
कोई कोई तो ये भी बता रहे थे की राजकोट मे फीर ईन लोगो के वर्कन नही मीलेगे ईस लीये हमे जाने नही दीया रहा.
सब लोग कोई न कोई बात से परेशान दीख रहे थे, सबके चहरे पर नीराशा और गुस्सा दोनो दीख रहा था. बात भी सही है
अब बात करते है प्रशासन की राजकोट को रेड जोन से ओरेन्ज जोन मे रखा फीर भी ओरेन्ज जोन मे जो छुट मीलनी चाहीए वह छुट राजकोट शहर को नही दी गई. ईसी बात को लेकर पुरे राजकोट मे ये वर्कर ही नही सारे छोटी बडी दुकान वाले भीर परेशान है सबको लोकडाउन के बहोत दीन हो गये.. रोजाना खाने पीने और बहोत सारे खर्चे तो सर पर चड रहे है लेकीन आय 0 है ईसी वजह से सरकार को सभी व्यापारी भी कोस रहे है..
ये जो वर्कर देख रहे थे उनके मालीक जो सभी बडी फेक्ट्री नही चलाते छोटी दुकान मे भी कोई छोटा सा स्पेर पार्टस या दुसरा काम करते थे एसेमे थोडी सी छुट इनको भी मीलती तो ये रोड पर नही आते.
साथमे जीनको वापस जाना है उनके लीये जो प्रोसेस है जोकी अभी सबके लीये आसान कीया वह पहले से आसान कीया होता तो भी रोड पर नही आते.
अभी कोरोना की महामारी को ले कर सबसे पहला कदम यही है की कोई भीड इकठ्ठा ना हो. लेकीन राजकोट का प्रशासन ईक काम मे नाकाम रहा. और एक होटस्पोट को मीला कर पांच जगह पर भीड उमटी. होटस्पोटमे भीड का उमटना कीतना खतरनाक हो सक्ता है यह तो आप भी समज सक्ते है.
अब देखना यह है की आगे उन वर्कर के लीये ओर दुसरे परेशान व्यापारी के लीये प्रशासन क्या करता है..

Update

गुजरात के राजकोट में परप्रांतीय वर्कर की भीड़ इकट्ठा होने के पांच किस्से बनने के बाद भी पुलिस आराम कि सास नहीं ले पा रही।
आप देख रहे है वह राजकोट का हॉटस्पॉट एरिया जंगलेश्वर है। जहा पर स्थानिक रहिसो की पुलिस के साथ झड़प हने के समाचार सामने आ रहे है।
पुलिस का कहना है कि स्थानिक को घर में रहने को कहा जा रहा थी तभी सारे लोगो ने विरोध करने शुरू कर दिया। उसके बाद एक जुंड आया और kantenment जोन के बॉर्डर पर लगे हुए पतरे तोड़ दिए और पुलिस के साथ भी बदसुलूकी की।
जिसका वीडियो वायरल हो रहा है।
इस एरिए में काफी हद तक स्थिति संभाली जा रही है लेकिन कुछ आवारा लोगो की वजह से बाकी लोग और पुलिस प्रशासन परेशान हो रही है।

Update

Update

लगातार पाच बार वर्कर्स ने भीड़ जम कर स्वदेश जाने की मांग करने के बाद आखिर उनके लिए व्यवस्था कि गई।

गुजरात के राजकोट से श्रमिको के लिए पहली ट्रेन रवाना हुई। जिसमे 1200 श्रमिको को अपने घर अपने वतन भेजा गया
यह पहली ट्रेन यूपी के बलिया के लिए निकली
यह पर यह बात भी जानना जरूरी है को श्रमिको के लिए केंद्र के भुगतान के बाद जो खर्च उठाना था वह राजकोट की एक सीवाकिय संस्था ने उठाया है
कुल 8 लाख 70 हजार का टिकट भड़ा और उस पर पानी फूड पैकेट का खर्च भी ट्रस्टने उठाया।
आपको यह भी बता से कि सभी लोगो के लिए सोशल दिस्टांसिंग का खयाल रखा गया और सभी मजदूरों का मेडिकल टेस्ट भी किया गया।।।

Related posts

विधायक ससुर की बहूने रास्ता क्रॉस करते युवक को मारी ठोकर, दर्ज हुआ अज्ञात वाहन से टक्कर का मामला

Rajkotlive News

गुजरात : बेंककर्मी महिला पर कॉन्स्टेबल का हमला, FM द्वारा ट्वीट किए जाने के बाद दर्ज हुई शिकायत, वीडियो

Rajkotlive News

પ્રથમ પૂજ્ય ગણેશ

Rajkotlive News