Breaking NewsGujaratIndiaVadodara

अवकाश होने के बावजूद ड्यूटी पर तैनात 6 महीने की गर्भवती, बोली- बच्चे को स्वस्थ भारत की भेंट दूंगी

वडोदरा : कोरोना की महामारी को हराने के लिए कई लोग अपना योगदान दे रहे है। हालांकि 6 महीने की गर्भवती धाराबेन ठाकर का योगदान अनूठा है। क्योंकि नियमो के अनुसार उसे अवकाश मिलना संभव है। पर फिर भी वह अपनी ड्यूटी पर तैनात है। धाराबेन का कहना है कि, वह अपने आनेवाले बच्चे को स्वस्थ भारत की भेंट देना चाहती है। उसके इस जज्बे की लोग प्रशंसा कर रहे है।

वडोदरा के उंडेरा गांव की धाराबेन ठाकर 11 साल से एम्बुलेंस में इमर्जेंसी मेडिकल टेक्निशियन के तौर पे सेवारत हैं। फ़िलहाल वह 6 माह गर्भवती है। गर्भवती महिलाओं के लिए ऐसे समय में विशेष रुपसे अवकाश का प्रावधान होता है। बावजूद इसके वह सच्चे दिल से अपना काम करने में जुटी है। उसका कहना है कि, इस कठिन समय में देश के साथ खड़े रहना हमारा कर्तव्य है।

बकौल धाराबेन, मेरे सामने अस्पताल में काम करते कई लोग भी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके है। इस कारण मुजे खुद के और बच्चे के लिए डर लगता है। लेकिन मैं ऐसा मानती हूं कि, इस वक़्त देश को मेरी जरूरत है। मुझे मेरी संतान की चिंता भी होती है। पर मैं उसे स्वस्थ भारत की भेंट देना चाहती हूं। यही वजह है कि इस कठिन समय में मैं नौकरी कर रही हूं। मुझे विश्वास है कि हम सब मिलकर कोरोना पर विजय प्राप्त कर लेंगे।

Related posts

लोकडाउन में घूमने के लिए बनाया अमित शाह का फर्जी लेटर, गुजरात पुलिस ने ऐसे पकड़ा

Rajkotlive News

कोंग्रस नेता हार्दिक पटेल को तीन साल पुराने केस में अहमदाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

Rajkotlive News

રાશિફળ : 19/11/2021

Rajkotlive News