Breaking NewsGujaratSurat

लोकडाउन में घूमने के लिए बनाया अमित शाह का फर्जी लेटर, गुजरात पुलिस ने ऐसे पकड़ा

सूरत : लोकडाउन में बाहर घूमने के लिए लोग तरह तरह के बहाने बनाते है। लेकिन सूरत के रियल एस्टेट ब्रोकर ने ऐसा खुराफाती आइडिया लगाया कि, उसके इस कारनामे से पुलिस भी चौंक उठी। दरअसल उसने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के नकली हस्ताक्षर वाला एक लेटर बना लिया। इतना ही नहीं इसके आधार पर वह पूरे महाराष्ट्र में घूमता रहा। हालांकि उसके लौटने पर गुजरात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसको यह आइडिया देनेवाले दो दोस्तों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है।

आरोपी की पहचान 33 वर्षीय राजेश पटेल के रुप में हुई है। वह अपने भाई से मिलने मुंबई के मलाड आया था। उसी समय लॉकडाउन घोषित हुआ, लेकिन वह मुंबई के कुछ और इलाके देखना चाहता था इसलिए उसने अपने दोस्त राजपुरोहित की मदद मांगी। उसने अपने वडोदरा निवासी दोस्त मनीष को राजेश पटेल का आईडी प्रूफ भेजकर पास का जुगाड़ करने कहा।

मनीष ने 27 मार्च का कथित रूप से स्पेशल परमिशन वाला लेटर तैयार किया। और उसमें गृहमंत्री के जाली हस्ताक्षर भी कर डाले। बादमें वह लेटर राजपुरोहित के झरिये राजेश को पहुंचा दिया। लेटर में राजेश को फार्मास्युटिकल बिजनसमैन बताया गया था। साथ ही सभी राज्यों के डीजीपी को एड्रेस करते हुए लिखा था कि, ‘यह सूचित करने के लिए पत्र लिखा गया है कि राजेशकुमार गोविंदभाई पटेल को दवाइयों के साथ फार्मास्युटिकल काम के लिए पूरे देश में यात्रा करनी होगी और वे कोविड-19 को लेकर एहतियात बरतते हुए अपना काम कर सकते है।

फर्जी लेटर के आधार पर मुंबई में घूमने के बाद राजेश टेंशन फ्री हो गया। उसे लगा कि, महाराष्ट्र पुलिस को उसके ऊपर कोई शक नहीं हुआ तो अमित शाह के गृहराज्य गुजरात में कोई मुश्किल होने का सवाल ही नहीं है। इसी सोच के साथ 12 अप्रैल को राजेश बांद्रा से सूरत जाने निकला। उसके साथ महिला समेत दो और लोग भी थे। पटेल ने मुंबई सूरत हाइवे पर पड़ने वाले भिलाड, दमनगंगा, भगवाडा जैसे बड़े चेकपोस्ट पार कर लिए। लेकिन वलसाड में वाघलधारा में तैनात पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया।

वहां हेड कॉन्स्टेबल हितेशकुमार दर्जी द्वारा लेटर की असली कॉपी मांगी जाने पर वह घबरा गया। जिसके चलते तीनों को पकड़कर डुंगरी के पुलिस थाने लाया गया। जहां पूछताछ के दौरान ही उसने सारी हकीकत बताई। जिसके चलते राजेश के खिलाफ जालसाजी, आपराधिक साजिश और सरकारी नियम का उल्लंघन करने के तहत मामला दर्ज हुआ। और पुलिस उसके दोनों फरार दोस्त मनीष और राजपुरोहित को ढूंढने में जुटी है।

Related posts

રાશિફળ : 03/12/2021

Rajkotlive News

રાશિફળ : 25/10/2021

Rajkotlive News

गुजरात में लोकल ट्रांसमिशन बढ़ना चिंता का विषय, आरोग्य अग्र सचिव जयंति रवि

Rajkotlive News