Breaking NewsIndia

महाराष्ट्र में सामने आया मरकज जैसा मामला, अब तक सत्संग स्थल पर मौजूद थे 1300 श्रद्धालु

लॉकडाउन के कारण देश के कई इलाकों में लोग जहां-तहां फंसे हैं. प्रदेश की सरकारें इनके लिए उचित प्रबंध कर रही हैं ताकि कोरोना के संक्रमण का खतरा पैदा न हो. कुछ राज्यों में लोगों को वहीं रोक कर खाने-पीने का इंतजाम किया जा रहा है तो कहीं लोगों को उनके गृह प्रदेश भेजने का भी काम हो रहा है. कुछ ऐसा ही वाकया महाराष्ट्र के लातूर जिले का है. यहां राठोडा गांव में लॉकडाउन में फंसे करीब 1300 लोगों को निजी बस से उनके गांव जाधववाडी भेजा जा रहा है. जाधववाडी पुणे जिले में आता है.

जिन लोगों को निजी बसों से भेजा जा रहा है वे सभी सभी लोग राठोडा गांव में महानुभव पंथ के सत्संग कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे.

बता दें, फरवरी महीने से यहां सत्संग चल रहा था. सत्संग के चलते लॉकडाउन की घोषणा की गई तो ये लोग यहीं फंस गए. चार-पांच दिन पहले यहां जोरों से बारिश हुई और बरसात में सत्संग का मंडप उखड़ गया. खाना बनाने का सामान भी खराब हो गया. इसकी वजह से इन महानुभवी साधकों को सिर छुपाने के लिए मंदिर और

Related posts

विवाहिता से प्रेम संबंध में युवक ने गंवाई जान, पतिने दोस्तो से मिलकर कर दी हत्या

Rajkotlive News

गुजरात में ट्रंप के आगमन से पूर्व खंभात में दो गुटों के बीच पथराव, पुलिस ने छोड़े आंसूगेस के गोले

Rajkotlive News

અભ્યારણ્ય બનેલા વરેલીમાં વધુ એક દીપડી પાંજરે પુરાઇ, એક જ ખેતરમાંથી 30થી વધુ દીપડા પકડાયા

Rajkotlive News