Breaking News India

महाराष्ट्र में सामने आया मरकज जैसा मामला, अब तक सत्संग स्थल पर मौजूद थे 1300 श्रद्धालु

लॉकडाउन के कारण देश के कई इलाकों में लोग जहां-तहां फंसे हैं. प्रदेश की सरकारें इनके लिए उचित प्रबंध कर रही हैं ताकि कोरोना के संक्रमण का खतरा पैदा न हो. कुछ राज्यों में लोगों को वहीं रोक कर खाने-पीने का इंतजाम किया जा रहा है तो कहीं लोगों को उनके गृह प्रदेश भेजने का भी काम हो रहा है. कुछ ऐसा ही वाकया महाराष्ट्र के लातूर जिले का है. यहां राठोडा गांव में लॉकडाउन में फंसे करीब 1300 लोगों को निजी बस से उनके गांव जाधववाडी भेजा जा रहा है. जाधववाडी पुणे जिले में आता है.

जिन लोगों को निजी बसों से भेजा जा रहा है वे सभी सभी लोग राठोडा गांव में महानुभव पंथ के सत्संग कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे.

बता दें, फरवरी महीने से यहां सत्संग चल रहा था. सत्संग के चलते लॉकडाउन की घोषणा की गई तो ये लोग यहीं फंस गए. चार-पांच दिन पहले यहां जोरों से बारिश हुई और बरसात में सत्संग का मंडप उखड़ गया. खाना बनाने का सामान भी खराब हो गया. इसकी वजह से इन महानुभवी साधकों को सिर छुपाने के लिए मंदिर और

Related posts

દેશમાં ઉત્તરાખંડથી કર્ણાટક સુધી 7 એવા પિતૃ તીર્થ છે જ્યાં શ્રાદ્ધ કરવાથી પિતૃઓ સંતુષ્ટ થાય છે

Rajkotlive News

*‘’ઓપરેશન ગંગા’’ અંતર્ગત*.*રાજકોટ જિલ્લાના વધુ ૬૯ ભારતીયો યુક્રેનથી પરત ફરશે*

Rajkotlive News

आइसोलेशन वार्ड से घर लौटी महिला की मौत, डॉक्टर पर रेप के आरोप

Rajkotlive News