AhmedabadBreaking NewsGujarat

गुजरात में धर्म के आधार पर वार्ड में इलाज की खबरों का राज्य सरकार ने किया खंडन

 

गांधीनगर : देश में कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामले अस्पतालों के लिए चुनौतियां साबित हो रही हैं। इसी बीच गुजरात के अहमदाबाद के सिविल हॉस्पिटल में कोरोना के मरीजों को धर्म के आधार पर अलग-अलग वॉर्ड में रखे जाने का मामला सामने आने के बाद राज्य सरकार ने इस बात का खंडन किया है।

गुजरात सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि सिविल अस्पताल में धर्म के आधार पर कोई वॉर्ड अलग नहीं किया जा रहा है। कोरोना मरीजों का इलाज डॉक्टरों की सिफारिशों के अनुसार लक्षणों, गंभीरता आदि के आधार पर किया जा रहा है। इस मामले में सरकार की ओर से जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

वहीं सिविल हॉस्पिटल के प्रोफेसर जीएच राठौड़ ने इस घटना पर बोलते हुए कहा, कुछ दैनिक समाचार पत्रों में छपी खबर पढ़ी है कि हमने मुसलमानों और हिंदुओं के लिए अलग वार्ड बनाए हैं। मेरे नाम की यह रिपोर्ट झूठी और निराधार है और मैं इसकी निंदा करता हूं। अस्पताल में कोरोना मरीजों का इलाज डॉक्टरों की सिफारिशों के अनुसार किया जा रहा है।

बतादें कि हिंदू और मुस्लिमों के लिए अलग वार्ड बनाए जाने की खबर के बाद गुजरात की सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई थी। विपक्ष ने गुजरात इसे गुजरात मॉडल की एक बनागी करार देना शुरू कर दिया था। जिसके बाद राज्य सरकार हरकत में आई। और मामले की जांच के आदेश दिए गए थे।

Related posts

सौराष्ट्र में वर-वधु ने फेरे से पहले दिया वोट, सेलिब्रिटी, दिव्यांग और शतायु मतदारों ने मनाया लोकशाही का पर्व

Rajkotlive News

રાજસ્થાનમાં લોકડાઉનઃ ગુજરાતની સરહદ કરાઈ સીલ

Rajkotlive News

વડોદરા મહેંદી મર્ડર કેસ

Rajkotlive News