Breaking NewsGujaratRajkotSaurashtra

गुजरात : बीमार बेटे को मौत के घाट उतार बोली मां- मैंने अगियारस के दिन उसे मोक्ष दिलाया, सीधा स्वर्ग जाएगा

गुजरात : बीमार बेटे को मौत के घाट उतार बोली मां- मैंने अगियारस के दिन उसे मोक्ष दिलाया, सीधा स्वर्ग जाएगा

राजकोट : देशमें चल रहे लोकडाउन के बीच शहर में दिल दहलानेवाला मामला सामने आया। जिसमें अपने बीमार बेटे की सेवा करके तंग आ चुकी मां ने उसको मौत के घाट उतार दिया। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी हत्या होने का खुलासा होने के बाद पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में मां ने अपना गुनाह स्वीकार किया। निर्दयी मांने बेशर्मी से बताया कि, अगियारस के शुभ दिन उसे मोक्ष दिलाया है, अब वह सीधा स्वर्ग ही जाएगा। बहरहाल मां को गिरफ्तार कर पुलिस ने कानूनी कार्रवाई शुरु की है।

संवाददाता के मुताबिक, शहर के रणछोड़वाड़ी क्षेत्र में रहनेवाले 40वर्षीय किशोरभाई डांगरिया का 17साल का बेटा प्रिन्स पिछले 3 साल से बीमार था। शनिवार को उसे बेहोश स्थिति में सरकारी अस्पताल लाया गया था। जहां माता-पिता ने पलंग से नीचे गिरने के कारण उसके बेहोश होने की बात कही थी। हालांकि डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित किया। और मृतक प्रिन्स के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया था।

पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में प्रिन्स की मौत पलंग से गिर जाने से नहीं बल्कि, गले में फंदा लगने की वजह से हुई होने की हकीकत सामने आई। जिसके चलते ही पुलिस ने परिजनों की पूछताछ शुरु की। जिसमें पिता किशोरभाई ने कहा कि, बेटे की मौत के समय वह घरमें नहीं थे। पत्नी दक्षाबेन ने उसे फोन कर बुलाया था। और प्रिन्स के पलंग से नीचे गिरने की बात कही थी।

किशोरभाई की बात सुनने के बाद पुलिस ने दक्षाबेन से कड़ी पूछताछ की। जिसमें उन्होंने अपना गुनाह स्वीकार किया। और कहा कि, पिछले तीन साल से उसके दिमाग में तकलीफ थी। और राजकोट समेत अहमदाबाद के डोक्टर के पास उसका इलाज चल रहा था। पिछले कुछ समय से उसको देखने-सुनने में मुश्किल होने लगी थी। उसकी पीड़ा देख नहीं सकने के कारण उसकी हत्या का खयाल आया।

शनिवार सुबह पति किशोरभाई मानव सेवा ट्रस्ट में काम से गए थे। और घर पे मां-बेटा दोनों अकेले थे। तभी उसने प्रिन्स को पलंग से नीचे फर्श पे सुलाया। बादमें दुपट्टे को गोल-गोल घुमाकर रस्सी जैसा बना लिया। बादमें उसका एक हिस्सा बेटे के गले में और दूसरा हिस्सा प्रिन्स के गले में डाल दिया। और दुपट्टे को जोर से खींचते ही प्रिन्स के नाक और मुंह से खून निकल गया था। उसके बाद पति को बुलाकर उसके पलंग से गिरने की कहानी सुनाई थी।

बीमार था। अगियारस के दिन शुभ चौघड़िया में उसकी हत्या कर मैंने उसको मोक्ष दिलाया है। अब वह सीधा स्वर्ग में ही जाएगा।

Related posts

गुजरात : मोबाईल एप संचालित मशीनों से राजकोट होगा सेनिटाइज, दो घंटेमें 10 किमी क्षेत्र में दवाई का छिड़काव

Rajkotlive News

गुजरात : शाही ठाठ के साथ सीएम की मौजूदगी में मांधातासिंह का राज्याभिषेक, बने तीन वर्ल्ड रिकॉर्ड

Rajkotlive News

ધોરણ-૧રની પરીક્ષાઓ આ વર્ષે નહીં યોજાય:-શિક્ષણ મંત્રી ભૂપેન્દ્રસિંહ ચુડાસમા.

Rajkotlive News