Breaking NewsGujaratRajkotSaurashtra

कोरोना पॉजिटिव मरीजने खोली सरकारी अस्पताल की पोल, कहा-सीने का रिपोर्ट कर घर भेज दिया !!

कोरोना पॉजिटिव मरीजने खोली सरकारी अस्पताल की पोल, कहा-सीने का रिपोर्ट कर घर भेज दिया !!

राजकोट : पूरे देश में कोरोना का कहर तेजी से फैल रहा है। जिसे रोकने के लिए केन्द्र और राज्य सरकारे कई कदम उठा रही है। ऐसे गंभीर माहौल में शहर के सरकारी अस्पताल की गैरजिम्मेदाराना हरकत सामने आई है। खुद कोरोना पॉजिटिव मरीज ने ही मामले का पर्दाफाश करते हुए बताया कि, दुबई ट्रैवेल की हिस्ट्री बताने के बावजूद यहां के डॉकटरो ने सीने का रिपोर्ट करने के बाद आराम करने की सलाह दी थी। हालांकि निजी अस्पताल में रिपोर्ट के बाद वह कोरोना संक्रमित होने की हकीकत सामने आई है।

दरअसल शहर में रहनेवाला एक 36 वर्षीय युवक कुछ दिनों पहले दुबई से लौटा था। 21मार्च को वह तबियत बिगड़ने के कारण सरकारी अस्पताल पहुंचा। वहां पर मौजूद डोक्टर को अपनी ट्रैवेल हिस्ट्री बताते हुए उसने कोरोना की आशंका व्यक्त की थी। लेकिन ड्यूटी पर तैनात डोक्टर ने सीने का रिपोर्ट करवाने के बाद उसे घरमें रेस्ट करने की सलाह दी।

हालांकि खुद में दिख रहे कोरोना के लक्षणों के कारण वह अन्य एक निजी अस्पताल पहुंचा। लेकिन वहां भी कोरोना टेस्ट की किट नहीं होने के कारण उसे निराश होकर लौटना पड़ा। आख़िरकार सोमवार को वह दूसरे निजी अस्पताल पहुंचा। और वहां कोरोना का रिपोर्ट करवाया। इतना ही नहीं मंगलवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसको फौरन आइसोलेशन में रखा गया है।

मामले को लेकर युवक ने सरकारी अस्पताल पे गंभीर आरोप लगाए। और कहा कि, तीन दिनों पहले सामने से जाने के बावजूद वहां के डॉकटरो ने तो कोरोना का रिपोर्ट करवाना भी जरूरी नहीं समजा। अगर में निजी अस्पताल नहीं जाता तो कोरोना के संक्रमण का पता चलने से पहले ही मेरी मौत भी हो सकती थी। ऐसे में सरकारी अस्पताल की इस लापरवाही को लेकर कई सवाल लोगोंमे उठने लगे है।

बतादे कि, युवक दुबई से मुंबई और वहां से राजकोट आया था। लेकिन वह मुंबई से फ़्लाइट में आया है या ट्रेन में इसकी जानकारी भी अभीतक प्रशासन के पास नहीं है। युवक के आरोप को लेकर टेक्निकल जांच के बाद जिम्मेदारों पर कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन जिला कलेक्टर द्वारा दिया गया है। हालांकि कब और क्या कार्रवाई होती है, यह तो आनेवाला वक़्त ही बताएगा।

Related posts

गुजरात में निर्भया कांड, विवाहिता से दुष्कर्म के साथ गुप्तांग पर जलती सिगारेट व चप्पलों से दिए घाव

Rajkotlive News

न्यूजीलैंड में फंसा गुजराती परिवार, दवाई के लिए देने पड़ते है हररोज 500 डॉलर

Rajkotlive News

કોવિડ દર્દીઓની સારવારમાં જરૂરી દવાઓના ઉત્પાદનમાં કરાયો વધારોઃ મનસુખ માંડવિયા

Rajkotlive News