Breaking NewsIndia

भारत के ‘आधिकारिक’ परमाणु ताकत बनने की राह में रोड़ा बना ‘दोस्‍त’ रूस

भारत के ‘आधिकारिक’ परमाणु ताकत बनने की राह में रोड़ा बना ‘दोस्‍त’ रूस

भारत के ‘आधिकारिक परमाणु ताकत’ बनने की राह खुद हमारा मित्र देश रूस ही बाधा बन गया है। रूस ने कहा है कि भारत और पाकिस्‍तान को परमाणु हथियार संपन्‍न राष्‍ट्र का दर्जा देने पर परमाणु अप्रसार संधि को नुकसान पहुंचेगा। रूस के अप्रसार और हथियार नियंत्रण विभाग के डायरेक्‍टर व्‍लादिमीर येरमकोव ने कहा कि दोनों देशों को परमाणु ताकत स्‍वीकार करने से संधि को गहरा धक्‍का लगेगा।
येरमकोव ने कहा, ‘विश्‍व बहुत तेजी से विकसित हो रहा है और परमाणु क्षेत्र में भी तकनीकें ज्‍यादा से ज्‍यादा देशों को उलब्‍ध हो रही हैं। यह सत्‍य है कि भारत, पाकिस्‍तान और इजरायल परमाणु हथियार रखते हैं जो परमाणु अप्रसार संधि को मजबूत नहीं करता है। भारत और पाकिस्‍तान को परमाणु हथियार संपन्‍न राष्‍ट्र के रूप में इस संधि में शामिल होने का कोई सवाल ही नहीं है।’
उन्‍होंने कहा, ‘इस तरह की मान्‍यता देना इस संधि के लिए ही विनाशकारी होगा।’ बता दें कि भारत और पाकिस्‍तान दोनों परमाणु हथियार संपन्‍न राष्‍ट्र हैं और दोनों के पास 100 से ज्‍यादा परमाणु बम हैं। हालांकि दोनों ही देश अभी तक परमाणु अप्रसार संधि के सदस्‍य नहीं हैं। भारत और पाकिस्‍तान दोनों ही देश एक दूसरे को अपने परमाणु ठिकाने की सूची साझा करते हैं।

Related posts

समलैंगिक संबंधों ने ली युवक की जान, आरोपियों ने गले में फंदा डालकर पंखे से लटकाकर चलाई लूंट

Rajkotlive News

કોરોના ઇફેક્ટ

Rajkotlive News

ઓમિક્રોનથી સાવધાન!

Rajkotlive News