Breaking NewsGujaratRajkotSaurashtra

शादी के मौके पर बेटी ने मांगा अनूठा उपहार, पिताने बैलगाड़ी में भरकर दी दो हजार से ज्यादा पुस्तकें

शादी के मौके पर बेटी ने मांगा अनूठा उपहार, पिताने बैलगाड़ी में भरकर दी दो हजार से ज्यादा पुस्तकें

 

राजकोट : अपनी शादीमें पिता से कोई अनूठा उपहार पाने की इच्छा प्रत्येक युवति की होती है। आमतौर पे पिता द्वारा लाड़ली को गहने, कपड़े, जवाहरात, वाहन और नकद पैसा भी दिया जाता है। लेकिन गुजरात के राजकोट में एक पिता ने बैलगाड़ी भरकर दो हजार से ज्यादा पुस्तकें दी है। जिसमें संस्कृत, गुजराती, हिंदी और अंग्रेजी भाषा की पुस्तकें समेत बाइबल, श्रीमद भागवत और कुरान भी शामिल है।

शहर के नानामौवा के रहनेवाले हरदेवसिंह जाडेजा नामक शिक्षक की बेटी किन्नरीबा की शादी वडोदरा निवासी इंजीनियर पूर्वजीतसिंह से हुई। पूर्वजीतसिंह अभी कनाडा में रहते हैं। किन्नरी बा को बचपन से ही किताबें पढ़ने का शौक है। इसी कारण उनके पास 500 से ज्यादा किताबों की लाइब्रेरी है। अपनी शादी में खुद के वजन के बराबर पुस्तक देने की ख्वाहिश किन्नरी बा ने अपने पिता के सामने व्यक्त की थी। बेटी की इच्छा को पूरी करने के लिए हरदेवसिंह ने उसके वजन से 10 गुना यानी 500 किलो से ज्यादा वजन के पुस्तक उसको दिए है।

बेटी को यह अनूठा उपहार देने के लिए हरदेवसिंह ने पहले उसकी पसंदीदा पुस्तको की सूची बनाई। फिर 6 महीने तक दिल्ली, बेंगलुरु और काशी जैसे शहरों में घूमकर इन पुस्तको को इकठ्ठा किया। जिसमें महर्षि वेद व्यास से लेकर कई नामी लेखकों द्वारा लिखी गई विविध भाषा की पुस्तकें शामिल है। इन पुस्तकों को बैलगाड़ी में भरकर किन्नरीबा को विदा किया गया। इन दृश्यों को देखकर वहां मौजूद सभी ने हरदेवसिंह और उनकी बेटी की जमकर सराहना की।

Related posts

જેતપુરમાં દિવાળીની રાત્રે થયેલા પથ્થરમારામાં ઘવાયેલા વૃદ્ધાનું મોત

Rajkotlive News

જીટીયુ દ્વારા 21 દિવસીય ઓનલાઈન યોગ શિબિરનો પ્રારંભ.

Rajkotlive News

गुजरात में हिट एंड रन, बाइक सवार दंपति को कुचल कार चालक फरार, पति के सामने पत्नी की मौत

Rajkotlive News

Leave a Comment