Breaking NewsGujaratSurat

टीचर की मार से डराते थे साथी छात्र, किशोरी ने गले में फंदा डालकर की खुदकुशी, लिखा- ‘मेरे सपने पूरे करना’

टीचर की मार से डराते थे साथी छात्र, किशोरी ने गले में फंदा डालकर की खुदकुशी, लिखा- ‘मेरे सपने पूरे करना’

सूरत : कोसमाडा गांव की सरकारी स्कूल में 7वी कक्षा में पढ़नेवाली 13 साल की एक किशोरी ने गले में फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। दरअसल उसने पेटदर्द की वजह से एकदिन की छुट्टी ली थी। जिसके चलते साथ पढ़ते दूसरे छात्र उसे टीचर की मार से डरा रहे थे। इसी कारण उसने ये कदम उठाया होने की हकीकत उसकी स्यूसाइड नॉट से सामने आई है। स्यूसाइड नॉट में इस किशोरी ने अपने पिता को कहा कि, ‘मेरी इच्छा पूरी करना’!

मृतक की पहचान सुहाना राठोड के रूपमें हुई है। वह अपनी माता सोनलबेन पिता अनिलभाई समेत छोटी बहन राधा के साथ सरदार आवास फलियां में रहती थी। सोमवार को उसके पेट में दर्द होने के कारण वह स्कूल नहीं गई थी। और मंगलवार को घर पे कोई नहीं था, तब उसने गले में फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। मामले की खबर मिलते ही माता-पिता वहां पहुंच गए। जहां सुहाना के शव के पास एक स्यूसाइड नॉट मिली।

स्यूसाइड नॉट में सुहाना के हस्ताक्षर थे। उसमें लिखा था कि, ममी-पापा सोरी, स्कूल में सब मुजे डराते है। और कहते है कि, टीचर तुमको मारनेवाली है। जिसके चलते में जीना नहीं चाहती। पापा आपकी दूसरी बेटी राधा का ध्यान रखना और उसे कोई मारना नहीं। मेरे सपने आप पूरे करना। बेटी द्वारा लिखी गई स्यूसाइड नॉट पढ़कर माता-पिता सुन्न हो गए। और छोटी बहन राधा फूटफूटकर रोने लगी थी।

परिजनों समेत शिक्षको के मुताबिक, सुहाना पढ़ाई में काफी तेज थी। सोमवार को पेटदर्द होने के कारण वह स्कूल नहीं गई। और दूसरे दिन स्कूल से आते ही उसने यह कदम उठा लिया। जिसके चलते साथी छात्रों द्वारा डराए जाने के कारण उसने खुदकुशी की होने की बात साफ है। बहरहाल उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की जांचमे जुट गई है। हालांकि मासुम की इस हरकत से परिजन समेत आसपास के लोगों में मातम फैल गया है।

Related posts

ગુજરાતના 5 જિલ્લાઓના ભૂગર્ભજળના એક્વિફર મેપિંગને લીલી ઝંડી

Rajkotlive News

*ભારતીય માન્યતા બિલાડી અશુભ છે ને અમેરિકન મનોવૈજ્ઞાનિકોનું સમર્થન.* *બિલાડી પાળવાથી કે તેની સાથે રહેવાથી સ્ત્રીઓને વઘુ ઝોખમ, બિલાડીના ટી ગોંડી પરોપજીવથી સ્ત્રીઓમાં ” ક્રેઝી કેટ લેડી સિન્ડ્રોમ ” વિકસિત થઈ શકે છે.* સૌરાષ્ટ્ર યુનિવર્સિટીના મનોવિજ્ઞાન ભવનનો સર્વે.

Rajkotlive News

तोड़ देंगे, शरीर का कोना-कोना, पर नहीं होने देंगे कोरोना, से फेमस पुलिस जवान बना हीरा कंपनी का एम्बेसेडर

Rajkotlive News

Leave a Comment