Breaking NewsGujaratIndiaRajkotSaurashtra

राजकोट राजतिलक महोत्सव : 2126 राजपूतों ने 9.49 मिनट तलवार रास का विश्व रिकॉर्ड बनाया

राजकोट राजतिलक महोत्सव : 2126 राजपूतों ने 9.49 मिनट तलवार रास का विश्व रिकॉर्ड बनाया

राजकोट : आनेवाली 30 जनवरी को राजवी परिवार के युवराज मांधातासिंहजी जडेजा का राजतिलक होने जा रहा हे। ठाकोर मनोहरसिंहजी जडेजा का निधन होने के बाद अब उनके बेटे गद्दी संभालेंगे। राजतिलक महोत्सव के तहत 27 जनवरी से विविध कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसमें 2126 राजपूत भाई बहनों ने 9.49 मिनट तलवार रास का विश्व रिकॉर्ड बना लिया है। आनेवाले दिनों में और भी वर्ल्ड रिकॉर्ड बनने जा रहे है।

मंगलवार को शहर के ड्राइवइन सिनेमा ग्राउंड मे कुल 2126 राजपूत भाई-बहनों ने परंपरागत वेशभूषा में 9.49 मिनट तलवार रास लिया। इस मौके पर ग्रीनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकोर्ड की टीम भी मौजूद रही। और अपनी आंखों से यह नजारा देखने के बाद राजवी को रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट दिया। इस मौके पर गुजरात के सभी राज परिवारों के अग्रणियों समेत आम जनता भी बड़ी संख्यामें उमड़ पड़ी थी।

27 जनवरी से शुरु हुए इस समारोह में ठाकुर साहब की देहशुद्धि दसविधी स्नान, विष्णु पुजन, समेत पुजन किए गए। 28 जनवरी की सुबह से तीन दिनों तक चलनेवाले अभूतपूर्व राजसूय यज्ञ का प्रारंभ हुआ है। मंगलवार को तलवार रास के रिकॉर्ड के बाद शहर की सड़कों पर 30 से ज्यादा विंटेज कार समेत नगरयात्रा निकाली गई। जिसमें हाथी, घोडे, भारत का एकमात्र चांदी का रथ और घोडा रथ भी शामिल हुए।

आज भी सुबह से पुजन विधि, संध्या पुजन, जगत कल्याण के लिये शांतीपुष्टी होम किया जा रहा है। जिसमें भी ग्रीनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम की उपस्थिति में ब्राह्मणों द्वारा 51 तीर्थो से आये जल के अभीषेक का रिकॉर्ड दर्ज हुआ। आज शाम को भी तकरीबन 7000 से ज्यादा दीप जलाकर ज्योति पर्व मनाया जाएगा। इस ज्योतिपर्व का भी वर्ल्ड रिकॉर्ड होने की संभावना जताई गई है।

30 जनवरी को युवराज मांधातासिंहजी जडेजा का भव्य राजतिलक होगा। जिसमें राज्य के मुख्यप्रधान विजय रुपाणी समेत गुजरात के राजवी परिवार मौजूद रहेंगे। उसके बाद राजवी पेलेस मे लोक संस्कृति कर कार्यक्रम लोकडायरा का आयोजन किया गया है। इस मौके पर द्वारिका ओर ज्योतिमर्ठ के द्रीपीठाधिश्वर अनंत श्री विभूषित 1008 जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंदजी सरस्वति के प्रतिनिधि सदानंद सरस्वति, दंडी स्वामी, परमानंनदजी सरस्वती भी आशीर्वाद देंगे।

बतादे कि, 450 साल के इतिहास में देशमें पहलीबार ऐसा भव्य राज्याभिषेक होने जा रहा है। जिसे लेकर क्षत्रिय समुदाय के साथ-साथ राजकोट की जनता में भी अनूठा उत्साह देखा जा रहा है। और पूरे शहर में राजशाही समय का माहौल दिखाई देने लगा है।

Related posts

તાલિબાન ભારત માટે બની શકે છે ખતરો, પાકિસ્તાની આર્મીની હક્કાની નેટવર્ક સાથેની નજીકતા ભારત માટે ચિંતાજનક

Rajkotlive News

રાજકોટ મનપાનો હુમલાખોરોને વળતો જવાબ

Rajkotlive News

મહિલા આર્થિક વિકાસ નિગમ ગાંધીનગર અને જિલ્લા મહિલા અને બાળ અધિકારીની કચેરી, રાજકોટ દ્વારા મહિલા સ્વરોજગાર* *મેળો તથા લોન ધિરાણ મેળો-*

Rajkotlive News

Leave a Comment