Breaking News Entertainment Gujarat India

सुशांत सिंह व खुशी के सुसाइड से आहत हैं 12 साल की बेटी, यूनिवर्सिटी मनोविज्ञान भवन में आया फोन !

सुशांत सिंह व खुशी के सुसाइड से आहत हैं 12 साल की बेटी, यूनिवर्सिटी मनोविज्ञान भवन में आया फोन !

राजकोट :सौराष्ट्र यूनिवर्सिटी के मनोविज्ञान भवन द्वारा पिछले काफी समय से मानसिक रुपसे अस्वस्थ हो रहे लोगो की काउंसलिंग की जा रही है। यहां आएदिन कई अनूठे मामले सामने आते रहते है। ऐसे में सुशांत सिंह व खुशी के सुसाइड से आहत 12 साल की बेटी का मामला सामने आया है। जिसमें अभिभावक द्वारा फोन पर बताया गया कि, “जब से सुशांत सिंह और खुशी के सुसाइड की खबर सुनी है, तब से हमारी बेटी कहने लगी है कि, मेरा फेवरेट हीरो ऐसे कैसे मर गया? इसके बाद जब खुशी के सुसाइड की खबर मिली, तो वह खामोश ही हो गई है। आप हमारे यहां आकर बेटी को इस डिप्रेशन से बाहर निकालो।

अभिभावक ने आगे बताया कि, बच्ची काफी घबराई हुई है। उसे ऑनलाइन पढ़ाई बिलकुल भी पसंद नहीं है। इसके बाद भी न चाहते हुए उसे ऑनलाइन लेक्चर अटेंड करना पड़ रहा है। यदि वह लेक्चर अटेंड नहीं करती, तो उसे खूब बेचैनी होती है। और वह गिल्टी फील करती है। इन मुश्किलों में वह शांति से नहीं रह सकती। उसे नींद भी नहीं आ रही है। इसके अलावा उसका व्यवहार भी काफी बदल गया है। वह दादी से कहती है कि मम्मी को घर से बाहर निकाल दो। कई प्रयासों के बावजूद हम उसे समजाने में नाकामयाब हुए है।

इस संबंध में मनोविज्ञान भवन के प्रोफेसर ने बताया कि, इस मासूम से मुलाकात के बाद उसकी स्थिति को जानने का मौका मिला। सवालों का जवाब देते हुए वह घबरा जाती है। पिछले सप्ताह की घटनाओं के बारे में पूछने पर उसे केवल तीन घटनाएं ही याद हैं। पहली कोरोना के कारण वह अपनी सहेलियों से नहीं मिल पा रही हैं। दूसरी सुशांत सिंह की आत्महत्या और तीसरी खुशी की आत्महत्या। बहरहाल हमने इस मासुम का ध्यान दूसरी बातों पर खींचने का प्रयास शुरू किया है।

Related posts

विश्व बैंक ने भारत के लॉकडाउन मॉडल पर उठाए कई सवाल, कहा- गरीबों का ज़रा भी ध्यान नहीं रखा गया

Rajkotlive News

शिक्षक की प्रताड़ना से घरसे भागी 11 साल की छात्रा, 17 घंटे बाद पुणे से मिली

Rajkotlive News

बीच समंदर मछुआरों की नाव में लगी आग, छह को बचाया गया, एक लापता, वीडियो

Rajkotlive News