Breaking News India Life style

ED ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को किया गिरफ्तार

ED ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को किया गिरफ्तार

मुंबई : प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने यस बैंक (Yes Bank) के संस्थापक राणा कपूर को शनिवार देर रात गिरफ्तार कर लिया. मुंबई स्थित ईडी कार्यालय में शनिवार देर को करीब 20 घंटे तक पूछताछ की गई. इससे पहले यस बैंक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने बैंक के पूर्व प्रमोटर और संस्थापक राणा कपूर के घर पर छापेमारी भी की थी. CNBCTV18 को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुंबई स्थित ED दफ्तर में राणा कूपर से लगातार पूछताछ हो रही है.

RBI ने राणा कपूर को अगस्त 2018 में पद छोड़ने को कहा था

ईडी ने बैंक के संस्थापक और इस संकट के सामने आने से पहले बोर्ड एग्जिट कर चुके बैंक के पूर्व सीईओ राणा कपूर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है. राणा कपूर के घर सहित कई ठिकानों पर पिछले 12 घंटे से छापेमारी जारी है. आपको बता दें कि RBI ने राणा कपूर को अगस्त 2018 में पद छोड़ने के लिए कहा था. इसके बाद उन्हें 31 जवनरी 2019 को अपना पद छोड़ना पड़ा. शुक्रवार को जांच एजेंसी ने राणा के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया था. इसके बाद शनिवार को राणा मुंबई में ईडी दफ्तर पहुंचे. राणा कपूर से ईडी की टीम शनिवार देर रात तक पूछताछ कर रही थी.

बैंक के गवर्नेंस पर लंबे समय से उठता रहा है सवाल

बीते कुछ समय में यस बैंक के गवर्नेंस पर लगातार सवालिया निशान खड़े होते रहे हैं. इसीलिए बैंक के मार्केट कैपिटलाइजेशन (Market Capitalization) में लगातार गिरावट देखने को मिली है. कॉरपोरेट सेक्टर में राणा कपूर का नेटवर्क मजबूत माना जाता है. बैंक को कई महत्वपूर्ण ​डील दिलाने में कपूर ने अहम भूमिका निभाई थी. कपूर ने उन कंपनियों को भी पूंजीगत मदद ​दी, जिन्हें अन्य उधारकर्ता कर्ज देने से कतराते थे. लेकिन कभी मास्टरस्ट्रोक समझा जाना वाला यह कदम अब यस बैंक के लिए सबसे बुरी कहानी बन गया है.

आवश्यक सूचना-

*अब यस बैंक कार्ड होल्डर दूसरे एटीएम से अपनी राशि निकासी के लिए उपयोग कर सकते हैं*

‘येस बैंक संकट के लिए कांग्रेस जिम्मेदार’
‘कट लेने का चलता था सिस्टम’
खाताधारकों का नहीं होगा कोई नुकसान
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि जिन कर्जों की वजह से येस बैंक की ये स्थिति हुई है वो लोन तब दिए गए जब देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे. पटना में आजतक से उन्होंने कहा कि सरकार पैसा जमा करने वालों को कोई नुकसान नहीं होने देगी. उन्होंने इस संकट के लिए यूपीए सरकार पर हमला बोला.

 

राणा कपूर पर कई शेल कंपनियों के गठन का गंभीर आरोप
पत्नी और बेटियां राखी, रोशनी और राधा के नाम पर भी कंपनियां

येस बैंक के संस्थापक राणा कपूर पर शिकंजा कसता जा रहा है. 11 मार्च तक प्रवर्तन निदेशालय (ED) की हिरासत में भेजे गए राणा कपूर को लेकर अब एक नया खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, राणा कपूर के कुछ निवेश शक के दायरे में हैं. जांच में पता चला है कि राणा कपूर ने 2000 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति में निवेश किया था. ये संपत्ति भारत में हैं. प्रवर्तन निदेशालय को शक है कि संपत्तियों में रिश्वत का पैसा लगाया गया था. यूनाइटेड किंगडम (यूके) में भी संपत्तियों का खुलासा हुआ है.

Related posts

गुजरात बॉर्डर से 20 किमी दूर पाकिस्तान में चीन बना रहा एयरपोर्ट ?

Rajkotlive News

कोंग्रेस नेता बदरुद्दीन का आखिरी वीडियो सामने आया, ‘अगर कोरोना फैल गया तो रोकना मुश्किल’

Rajkotlive News